There was an error in this gadget

Friday, 28 October 2011

QAFAN

आज     मैं     जिन्दा    दफ़न    हो    गया !
कुछ नासमझ लोगों का कफन हो गया !!
जब चाहा ढाई गज फाड़ लिया मुझको !
देखो, बिना हनुमान के लंका दहन हो गया !!

2 comments: